10 Lines on Red Chandan

10 Lines on Red Chandan

रक्त चंदन

आज हम आप के लिए 10 Lines on Red Chandan ले कर आये है, Blood Sandalwood या Blood Sandalwood रंग का होता है, रक्त चंदन के पेड़ मुख्य रूप से तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में पाए जाते हैं, वे चार जिलों चित्तूर, कडप्पा, कुरनूल और नेल्लोर में फैली शेषचलम पहाड़ियों में भी बहुतायत में उगते हैं, इसके पेड़ की औसत ऊंचाई 8 से 11 मीटर है।

रक्त चंदन के पेड़ अपनी काफी खूबियों के कारण हमेशा से ही ख़ास रहा है जैसे के इसकी कीमत, खात्श, व्यावसायिक महत्व, व्यावसायिक महत्व के साथ-साथ परिपाटी। ‘रक्त चंदन’ का पेड़ जिसकी विजह से तमिलनाडु और आंग्र प्रदेश की सीमा पर बहुत ज्यादा पहरा रहता है, क्योकि रक्त चंदन की तस्करी एक बड़ी समस्या है। चलिए शुरुआत करते हैं।

10 Lines on Red Chandan

Essay Writing

10 Lines on Red Chandan in Hindi

  1. रक्त चंदन लाल रंग का होता है, इसका वैज्ञानिक नाम “टेरोकार्पस सैंटानस” है।
  2. इसकी लकड़ी लाल रंग की होती है, इसमें सफेद चंदन जैसी गंध नहीं होती है। इसका उपयोग दवाओं, इत्र, पूजा, फर्नीचर और सजावट के निर्माण में किया जाता है। कई लोग इसका इस्तेमाल प्राकृतिक रंग और वाइन बनाने में भी करते हैं।
  3. रक्त चंदन के पेड़ मुख्य रूप से तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में पाए जाते हैं, वे चार जिलों चित्तूर, कडप्पा, कुरनूल और नेल्लोर में फैली शेषचलम पहाड़ियों में भी बहुतायत में उगते हैं, इसके पेड़ की औसत ऊंचाई 8 से 11 मीटर है।
  4. शैव और शाक्त मत को मानने वाले रक्त चंदन का अधिक प्रयोग करते हैं और वैष्णव धर्म के लोग पीले चंदन का प्रयोग करते हैं।
  5. विश्व में चंदन की 16 प्रजातियाँ हैं, जिनमें से “सेंटालम एल्बम” प्रजाति सबसे सुगंधित और औषधीय है।
  6. अंतरराष्ट्रीय बाजारों में रक्त चंदन की मांग अधिक है। ऐसे में रक्त चंदन के पेड़ों की सुरक्षा बहुत जरूरी है, अंतरराष्ट्रीय समझौते के तहत भारत पर रक्त चंदन के पेड़ों की रक्षा करने की जिम्मेदारी है।
  7. चीन, जापान, सिंगापुर, यूएई, ऑस्ट्रेलिया समेत कई अन्य देशों में इन लकड़ियों की मांग है। लेकिन सबसे ज्यादा डिमांड चीन में है। यहां ज्यादातर समय तस्करी भी होती है। फर्नीचर, सजावटी सामान, पारंपरिक उपकरणों की मांग अधिक है।
  8. रक्त चंदन की सड़क, पानी और हवा से तस्करी की जाती है। कुछ तस्कर कभी-कभी पकड़े जाने के डर से पाउडर के रूप में भी इसकी तस्करी करते हैं, इसका फर्नीचर, दवा और पारंपरिक उपकरणों के लिए भारी कारोबार होता है।
  9. रक्त चंदन की खेती सभी प्रकार की मिट्टी में की जा सकती है। लेकिन, इसके पेड़ रेतीली मिट्टी, मिट्टी की मिट्टी, लाल मिट्टी, काली दानेदार मिट्टी में अच्छी तरह विकसित होते हैं। जहां पानी का ठहराव हो वहां इसकी खेती नहीं की जा सकती है।
  10. अमेरिका के सेज जर्नल ऑफ ब्रेस्ट कैंसर बेसिक एंड क्लिनिकल रिसर्च के अनुसार, बिहार के वैज्ञानिकों ने रक्त चंदन पर किए गए शोध की प्रशंसा की। चंदन में मौजूद रोग प्रतिरोधक क्षमता को लेकर वैज्ञानिकों ने एक नई खोज की है। इसमें ब्रेस्ट कैंसर के प्रति प्रतिरोधक क्षमता की मौजूदगी का पता चला।

10 Lines on Red Chandan in English

  1. Blood Sandalwood is Red in colour, its scientific name is “Pterocarpus santanus“.
  2. Its wood is red, it does not have any smell like white sandalwood. It is used in the manufacture of medicines, perfumes, worship, furniture and decorations. Many people also use it in making natural dyes and wine.
  3. Rakt sandalwood trees are mainly found in Tamil Nadu and Andhra Pradesh, they also grow in abundance in the Seshachalam hills spread in four districts Chittoor, Cuddapah, Kurnool and Nellore, the average height of its tree is 8 to 11 meters.
  4. Rakt sandalwood is used more by those who believe in Shaivism and Shakta faith and people of Vaishnavism use yellow sandalwood.
  5. There are 16 species of sandalwood in the world, of which the “Centalum Album” species are the most aromatic and medicinal.
  6. The demand for blood sandalwood is high in the international markets. In such a situation, the protection of blood sandalwood trees is very important, under the international agreement, India has the responsibility of protecting blood sandalwood trees.
  7. There is a demand for these woods in many other countries including China, Japan, Singapore, UAE, Australia. But the highest demand is in China. Smuggling also happens here most of the time. The demand is high for furniture, decorative items, traditional instruments.
  8. Blood sandalwood is smuggled by road, water and air. Some smugglers sometimes even smuggled it in powder form for fear of being caught, it is traded heavily for furniture, medicine and traditional instruments.
  9. Rakta sandalwood cultivation can be done in all types of soil. But, its trees grow well in sandy soil, clay soil, red soil, black granular soil. It cannot be cultivated in a place where there is stagnation of water.
  10. According to America’s Sage Journal of Breast Cancer Basic and Clinical Research, the scientists of Bihar praised the research done on blood sandalwood. Scientists have made a new discovery about the immunity present in sandalwood. In this, the presence of immunity to breast cancer was detected.

You Can Buy: RED SANDALWOOD SEEDS (25 Seeds)

Conclusion

हम आशा करते हैं कि आपको 10 Lines on Red Chandan निबंध के माध्यम से “रक्त चंदन”  से जुडी कुछ जरुरी जानकारी हमने इस पोस्ट के जरिये आप तक पहुंच रहे है। हमे उम्मीद है के आप को “Blood Red Sandalwood”  पर दी गई जानकारी आप लोगों को अच्छी लगी होगी। अगर आपको हमारा पोस्ट अच्छा लगा हो, तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कीजिए और Please Social में इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करके, ताकि इसका लाभ अधिक से अधिक लोगों ताकि पहुंच सके।

5/5 - (1 vote)

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top