10 Lines Essay on World Environment Day

हेलो फ्रेंड, आज हम आपके लिए 10 Lines Essay on World Environment Day पर English और Hindi भाषा में आसान निबंध लेकर आए हैं। हर साल 5 जून को पूरी दुनिया में “विश्व पर्यावरण दिवस” को मनाया जाता हैं।विश्व पर्यावरण दिवस एक ऐसी चीज है जो हमारे मन में एक अनजानी खुशी लाती है। क्योंकि हम हमेशा प्रकृति से जुड़े रहते हैं। हम बचपन में स्कूलों में पौधे लगाते थे। ऐसी गतिविधियों में भाग लें और महसूस करें कि आपने अच्छा काम किया है। वह एहसास हममें हमेशा रहेगा। प्रकृति से प्यार करने से बड़ा क्या हो सकता है… इतना प्यार करना… पर्यावरण को नुकसान नहीं पहुंचा सकता। तो आइए जानते हैं इस मौके पर कुछ खास बातें।

इस दिन पृथ्वी की रक्षा के प्रति जागरूकता का कार्यक्रम विभिन जगहो पर आयोजित किया जाता है। शिक्षक भी स्कूलों में छात्रों को इस दिन का महत्व समझाते हैं। यह सब हर साल होता है। और क्या हम वाकई कर रहे हैं? जवाब न है। World Environment Day 2022

10 Lines Essay on World Environment Day
10 Lines Essay on World Environment Day

Essay Writing

10 Lines Essay on World Environment Day in Hindi

  1. पर्यावरण शब्द का निर्माण दो शब्दों परि और आवरण से मिलकर बना है।
  2. जिसमें परि का मतलब है हमारे आसपास अर्थात जो हमारे चारों ओर है, और ‘आवरण’ जो हमें चारों ओर से घेरे हुए है।
  3. इसकी शुरुआत 1972 में 5 जून से 16 जून तक संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा आयोजित विश्व पर्यावरण सम्मेलन से हुई।
  4. 5 जून 1973 को पहला विश्व पर्यावरण दिवस मनाया गया।
  5. इस दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य जागरूकता फैलाना था।
  6. पर्यावरण से हमें वह हर संसाधन उपलब्ध हो जाते हैं जो किसी सजीव प्राणी को जीने के लिए आवश्यक है।
  7. पर्यावरण ने हमें वायु, जल, खाद्य पदार्थ, अनुकूल वातावरण आदि उपहार स्वरूप भेंट दिया है।
  8. धरती पर रहने वाले सभी व्यक्ति द्वारा उठाए गए छोटे कदमों के माध्यम से हम बहुत ही आसान तरीके से पर्यावरण को सुरक्षित कर सकते हैं।
  9. हमें अपशिष्ट की मात्रा में कमी करना चाहिए तथा अपशिष्ट पदार्थ को वही फेकना चाहिए जहां उसका स्थान है।
  10. प्लास्टिक बैंग का उपयोग नही करना चाहिए।

10 Lines Essay on World Environment Day in English

  1. he word environment is made up of two words surrounding and covering.
  2. In which Pari means around us i.e. that which surrounds us, and ‘cover’ that surrounds us.
  3. It began in 1972 with the World Environment Conference organized by the United Nations General Assembly from June 5 to June 16.
  4. The first World Environment Day was celebrated on 5 June 1973.
  5. The main objective of celebrating this day was to spread awareness.
  6. From the environment, we get all the resources that are necessary for any living being to live.
  7. The environment has gifted our air, water, food items, a favorable environment, etc.
  8. Through small steps taken by all the people living on the earth, we can save the environment in a very easy way.
  9. We should reduce the amount of waste and throw the waste material where it is.
  10. Plastic bags should not be used.

150 words Essay on World Environment Day in Hindi

पर्यावरण शब्द का निर्माण दो शब्दों परि और आवरण से मिलकर बना है, जिसमें परि का मतलब है हमारे आसपास अर्थात जो हमारे चारों ओर है, और ‘आवरण’ जो हमें चारों ओर से घेरे हुए है। इसकी शुरुआत 1972 में 5   जून से 16 जून तक संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा आयोजित विश्व पर्यावरण सम्मेलन से हुई। 5 जून 1973 को पहला विश्व पर्यावरण दिवस मनाया गया।  इस दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य जागरूकता फैलाना था।

         पर्यावरण से हमें वह हर संसाधन उपलब्ध हो जाते हैं जो किसी सजीव प्राणी को जीने के लिए आवश्यक है। पर्यावरण ने हमें वायु, जल, खाद्य पदार्थ, अनुकूल वातावरण आदि उपहार स्वरूप भेंट दिया है। धरती पर रहने वाले सभी व्यक्ति द्वारा उठाए गए छोटे कदमों के माध्यम से हम बहुत ही आसान तरीके से पर्यावरण को सुरक्षित कर सकते हैं। हमें अपशिष्ट की मात्रा में कमी करना चाहिए तथा अपशिष्ट पदार्थ को वही फेकना चाहिए जहां उसका स्थान है। प्लास्टिक बैंग का उपयोग नही करना चाहिए।

300 words Essay on World Environment Day in Hindi

इस दिन पृथ्वी की रक्षा के प्रति जागरूकता का कार्यक्रम विभिन जगहो पर आयोजित किया जाता है। शिक्षक भी स्कूलों में छात्रों को इस दिन का महत्व समझाते हैं। यह सब हर साल होता है। और क्या हम वाकई कर रहे हैं? जवाब न है।

विश्व पर्यावरण दिवस पहली बार संयुक्त राष्ट्र द्वारा 1972 में घोषित किया गया था। उस दिन स्वीडिश राजधानी स्टॉकहोम में मानव पर्यावरण के विषय पर एक बड़ा सम्मेलन आयोजित किया गया था। पहला विश्व पर्यावरण दिवस 1974 में मनाया गया था।

सभी राष्ट्र पृथ्वी के लिए बहुत प्यार दिखाते हैं। धरती को सबसे ज्यादा नुकसान इंसान ही कर रहे हैं। दुनिया भर की सरकारें महासागरों में विभिन्न प्रकार के प्रदूषक भेज रही हैं। अब प्लास्टिक कचरे की समस्या नहीं है। अधिक जनसंख्या के साथ एक और समस्या यह है कि ये काम नहीं करती हैं। इनके अलावा ग्लोबल वार्मिंग है। पर्यावरण के असंतुलन का एक कारण ग्लोबल वार्मिंग है। देश मैं कुछ सालो से भले ही लाखो करोड़ों पौधे हरियाली के लिए उगाए है, लेकिन ठंडा न होने का कारण वायु प्रदूषण का उच्च स्तर है।

कभी इस धरती पर कई तरह के जीवन थे। सभी विलुप्त हैं। अभी भी उनमें से बहुतों को मार रहे हैं। पंछी कहीं नजर नहीं आ रहे थे। मधुमक्खियों की संख्या घट रही है। फलस्वरूप खाद्यान्न उत्पादन में कमी आ रही है। यदि उपज बढ़ाने के लिए कीटनाशकों और रसायनों का उपयोग किया जाता है.. भूमि को नष्ट किया जा रहा है। यहां तक ​​कि समुद्री जीवन भी जीवित नहीं रह पाता है। प्रकृति प्रेमियों को हर साल यह एहसास होता रहता है कि सरकारों के कहने के अलावा पर्यावरण संरक्षण उनके हाथ में नहीं है। धरती पर रहने वाले सभी व्यक्ति द्वारा उठाए गए छोटे कदमों के माध्यम से हम बहुत ही आसान तरीके से पर्यावरण को सुरक्षित कर सकते हैं।

आयो हम मिलकर संकल्प करते है की हमारा छोटा छोटा किया गए पर्यावरण के प्रति अपना कर्तव् इस समस्या से निजाद दिला सख्त हैं।

“आओ संकल्प करते हैं हरियाली से नाता जोड़ते हैं।”

Conclusion

हम आशा करते हैं कि “10 Lines Essay on World Environment Day” or “150/300 words Essay on World Environment Day” पर हम इस पोस्ट के माध्यम से “World Environment Day” हम आशा करते हैं कि “विश्व पर्यावरण दिवस” ​​पर आपको दी गई जानकारी पसंद आएगी। यदि हां, तो इसे अपने सहपाठियों के साथ साझा करना न भूलें। इस वेबसाइट का उपयोग करने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद। यदि आपके पास इस इस पोस्ट के संबंध में कोई सुझाव है, तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कीजिए और Please Social Media के माध्यम से इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करके, ताकि इसका लाभ अधिक से अधिक लोगों को पहुंच सके।


5/5 - (1 vote)

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top