10 Lines on Atal Bihari Vajpayee

10 Lines on Atal Bihari Vajpayee

हेलो फ्रेंड, आज हम आपके लिए “10 Lines on Atal Bihari Vajpayee”, पर हिंदी और अंग्रेजी भाषा में आसान निबंध लेकर आए हैं। श्री अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म 25 दिसम्बर 1924 को मध्यप्रदेश के ग्वालियर जिले में हुआ था । अटल बिहारी वाजपेयी जी हिंदी कवि, पत्रकार व एक प्रखर वक्ता थे। वह चार दशकों से भारतीय संसद के सदस्य थे, लोकसभा, निचले सदन, दस बार, और दो बार राज्य सभा, ऊपरी सदन में चुने गए थे।

अटल बिहारी वाजपेयी एक भारतीय राजनेता थे, जिन्होंने भारत के प्रधान मंत्री के रूप में तीन बार सेवा की, पहली बार 1996 में 13 दिनों की अवधि के लिए, फिर 1998 से 1999 तक 13 महीने की अवधि के लिए, उसके बाद 1999 से 2004 तक पूर्ण कार्यकाल के लिए। वाजपेयी भारतीय जनता पार्टी के सह-संस्थापक और वरिष्ठ नेता थे। 16 अगस्त 2018 को एक लंबी बीमारी के बाद अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, दिल्ली में श्री वाजपेयी का निधन हो गया।

Essay Writing

10 Lines on Atal Bihari Vajpayee in English

  1. Shri Atal Bihari Vajpayee was born on 25 December 1924 in Gwalior district of Madhya Pradesh.
  2. His mother’s name was Krishna Devi Vajpayee and father Shri Krishna Bihari Vajpayee.
  3. Atal Bihari Vajpayee ji had received BA and MA education in Political Science. He also gave up his law studies to promote the RSS magazine..
  4. In the year 1947, Vajpayee started his career as a journalist and in the year 1951 he joined the ‘Bharatiya Jana Sangh’.
  5. His journey in electoral politics began in the year 1957, when he contested the Lok Sabha elections from three seats and was elected from the Balrampur constituency of Uttar Pradesh.
  6. He was one of the founders of the Bharatiya Jana Sangh, and was its president from 1968 to 1973. In the year 1968, Vajpayee ji was made the national president of the Jana Sangh.
  7.  Vajpayee ji got a total of 3 terms as the Prime Minister, his first term lasted only 13 days in the year 1996, after which he remained as the Prime Minister for 13 months from the year 1998 to the year 1999 and finally from the year 1999 to the year 2004. He had successfully completed his five-year term.
  8. He was a Hindi poet, journalist and a prolific speaker. As a writer, his major books include My 51 Poems, New Dimension of India, Foreign Policy, Four Decades in Parliament and his collection of speeches.
  9. Shri Atal Bihari Vajpayee was awarded Padma Vibhushan (1992), Bharat Ratna (2015), Best Parliamentarian (1994).
  10. He died on August 16, 2018 at the age of 93.

10 Lines on Atal Bihari Vajpayee in Hindi

  1. श्री अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म 25 दिसम्बर 1924 को मध्यप्रदेश के ग्वालियर जिले में हुआ था।
  2. उनकी माता का नाम कृष्णा देवी वाजपेयी तथा पिता श्री कृष्ण बिहारी वाजपेयी था। 
  3. अटल बिहारी वाजपेयी जी ने की राजनीति शास्त्र में  बी॰ए॰ और एम॰ए॰ शिक्षा प्राप्त की थी। उन्होंने आरएसएस पत्रिका को बढ़ावा देने के लिए कानून की अपनी पढ़ाई भी छोड़ दी।
  4. वर्ष 1947 में वाजपेयी जी ने एक पत्रकार के तौर पर अपने कॅरियर की शुरुआत की और वर्ष 1951 में वे ‘भारतीय जनसंघ’ में शामिल हो गए थे।
  5. चुनावी राजनीति में उनकी यात्रा वर्ष 1957 में शुरू हुई थी, जब उन्होंने तीन सीटों से लोकसभा चुनाव लड़ा और उत्तर प्रदेश के बलरामपुर निर्वाचन क्षेत्र से चुने गए थे।
  6. वे भारतीय जनसंघ के संस्थापकों में एक थे, और 1968 से 1973 तक उसके अध्यक्ष भी रहे। वर्ष 1968 में वाजपेयी जी को जनसंघ का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया गया था।
  7. वाजपेयी जी को प्रधानमंत्री के तौर पर कुल 3 कार्यकाल मिले, वर्ष 1996 में उनका पहला कार्यकाल केवल 13 दिनों तक चला, जिसके बाद वर्ष 1998 से वर्ष 1999 तक वह 13 महीने के लिये प्रधानमंत्री पद पर रहे और अंत में वर्ष 1999 से वर्ष 2004 तक उन्होंने सफलतापूर्वक अपना पाँच वर्षीय कार्यकाल पूरा किया था।
  8. वे हिंदी कवि, पत्रकार व एक प्रखर वक्ता थे। लेखक के रूप में इनकी प्रमुख पुस्तकों में मेरी 51 कविताएं, न्यू डाइमेंशन ऑफ इण्डियाज, फॉरेन पालिसी, फोर डिकेड्स इन पार्लियामेंट तथा इनके भाषणों का संग्रह उल्लेखनीय है।
  9. श्री अटल बिहारी वाजपेयी पद्मविभूषण (1992), भारतरत्न (2015), श्रेष्ठ सांसद (1994) से सम्मानित किया गया था।
  10. 16 अगस्त, 2018 को 93 वर्ष की उम्र में उनकी मृत्यु हो गई।

Conclusion

हम आशा करते हैं कि आपको 10 Lines on Atal Bihari Vajpayee ji पर निबंध के माध्यम से “अटल बिहारी वाजपेयी”  से जुडी कुछ जरुरी जानकारी हमने इस पोस्ट के जरिये आप तक पहुंच रहे है। हमे उम्मीद है आप को “अटल जी” के पर दी गई जानकारी आप लोगों को अच्छी लगी होगी। अगर आपको हमारा पोस्ट अच्छा लगा हो, तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कीजिए और Please Social में इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करके, ताकि इसका लाभ अधिक से अधिक लोगों ताकि पहुंच सके।

3/5 - (2 votes)

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top