Poem on Har Ghar Tiranga

Har Ghar Tiranga Poem

Poem on Har Ghar Tiranga,

हर घर तिरंगा अभियान (Har Ghar Tiranga)

Poem on Har Ghar Tiranga, ‘हर घर तिरंगा’ आजादी का अमृत महोत्सव में लोगों को तिरंगा घर लाने और भारत की आजादी के 75 वें वर्ष को उत्साह के साथ मनाने व प्रोत्साहित करने के लिए एक अभियान है। पीएम मोदी ने सभी देशवासियों से आह्वान किया कि वे 2 अगस्त से 15 अगस्त के बीच अपने घरों में राष्ट्रीय ध्वज फहराकर या प्रदर्शित करके और अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर ‘तिरंगा’ का उपयोग करके ‘हर घर तिरंगा’ अभियान को एक जन अभियान के रूप में बदल दें। #HarGharTiranga #harghartiranga #हरघरतिरंगा

Poem on “Har Ghar Tiranga”- चलो मिलकर तिरंगा फहराएं

हर घर तिरंगा और हर दिल मैं तिरंगा,
चलो मिलकर तिरंगा फहराएं।

मेरी शान है तिरंगा, मेरी जीवन है तिरंगा,
चलो मिलकर तिरंगा फहराएं।

मन में ये तिरंगा, हर घर में तिरंगा
हर दिल में तिरंगा, मेरी हर सांसो में तिरंगा,
चलो मिलकर तिरंगा फहराएं।

मेरा प्यार है तिरंगा, मेरा गीत है तिरंगा,
मेरी सांसो की हर सुरसुराहत में तिरंगा,
चलो मिलकर तिरंगा फहराएं।

मेरी हर चेतना में तिरंगा, मेरी हर जोश में है तिरंगा,
मेरा धर्म है तिरंगा, मेरा कर्म है तिरंगा,
चलो मिलकर तिरंगा फहराएं।

सत्य है तिरंगा, हर रोज तिरंगा, हर घर में तिरंगा,
चलो मिलकर तिरंगा फहराएं।

रचना  : shubhyouber’

Read More : कारगिल विजय दिवस पर कविता

विज़यी विश्व तिरंगा प्या़रा ( झण्डा गीतध्वज गीत )

विज़यी विश्व तिरंगा प्या़रा, झंडा ऊँचा़ रहे ह़मारा।

स़दा शक्ति ब़रसाने वाला, प्रेम सु़धा स़रसाने वाला

वीरो को ह़र्षाने वाला, मातृभूमि का तऩ-मन सारा,

झंडा ऊँचा रहे ह़मारा।

स्वतंत्रता के भीषण ऱण में, लख़क़र जोश ब़ढ़े क्षण-क्षण़ मे,

का़पे शत्रु देख़क़र मन मे, मिट जाये भय संक़ट सारा,

झंडा ऊँचा रहे ह़मारा।

इ़स झंडे के नीचे निर्भय, हो स्वराज़ ज़नता का निश्चय़,

ब़ोलो भारत माता की ज़य, स्वतंत्रता ही ध्येय हमारा,

झंडा ऊँचा रहे ह़मारा।

आ़ओ प्यारे वीरो आ़ओ, दे़श-जाति़ पऱ बलि़-ब़लि जाओ,

एक़ साथ़ सब़ मिलक़र ग़ाओ, प्यारा भारत देश हमारा,

झंडा़ ऊँचा रहे ह़मारा।

इसकी शान न ज़ाने पावे, चाहे ज़ान भले ही ज़ावे,

विश्व-विज़य क़रके दिख़लावे, तब़ होवे प्रण-पूर्ण ह़मारा,

झंडा ऊ़चा रहे ह़मारा।

रचना  : श्यामलाल गुप्त ‘पार्षद’ 

वन्दे मातरम् ( राष्ट्रीय गीत )

वन्दे मातरम्

सुजलां सुफलाम्

मलयजशीतलाम्

शस्यश्यामलाम्

मातरम्।

शुभ्रज्योत्स्नापुलकितयामिनीम्

फुल्लकुसुमितद्रुमदलशोभिनीम्

सुहासिनीं सुमधुर भाषिणीम्

सुखदां वरदां मातरम्।।

सप्त-कोटि-कण्ठ-कल-कल-निनाद-कराले

द्विसप्त-कोटि-भुजैर्धृत-खरकरवाले,

अबला केन मा एत बॅले

बहुबलधारिणीं

नमामि तारिणीं

रिपुदलवारिणीं

मातरम्।।

तुमि विद्या, तुमि धर्म

तुमि हृदि, तुमि मर्म

त्वम् हि प्राणा: शरीरे

बाहुते तुमि मा शक्ति,

हृदये तुमि मा भक्ति,

तोमारई प्रतिमा गडी मन्दिरे-मन्दिरे।।

त्वम् हि दुर्गा दशप्रहरणधारिणी

कमला कमलदलविहारिणी

वाणी विद्यादायिनी,

नमामि त्वाम्

नमामि कमलाम्

अमलां अतुलाम्

सुजलां सुफलाम्

मातरम्।।

वन्दे मातरम्

श्यामलाम् सरलाम्

सुस्मिताम् भूषिताम्

धरणीं भरणीं

मातरम्।।

रचना  : बंकिम चंद्र चटर्जी
Poem on Har Ghar Tiranga

Poem on Har Ghar Tiranga

जन-गण-मन ( राष्ट्रगान )

जन-गण-मन अधिनायक जय हे,

भारत भाग्य विधाता, पंजाब-सिंध-गुजरात-मराठा,

द्राविड़-उत्कल-बंग, विंध्य हिमाचल यमुना गंगा,

उच्छल जलधि तरंग, तव शुभ नामे जागे,

तव शुभ आशिष मागे, गाहे तव जय गाथा,

जन-गण-मंगलदायक जय हे, भारत भाग्य विधाता!

जय हे! जय हे! जय हे!

जय जय जय जय हे !

रचना  : रवींद्रनाथ टैगोर

Read More : Poem on Mahatma Gandhi in Hindi

राष्ट्रीय ध्वज के गलत प्रदर्शन से बचने

  • राष्ट्रीय ध्वज को उलटे तरीके से प्रदर्शित नहीं किया जाना चाहिए, (केसरिया रंग वाली पट्टी नीचे नहीं होनी चाहिए)
  • क्षतिग्रस्त या अस्त-व्यस्त राष्ट्रीय ध्वज को प्रदर्शित नहीं किया जाएगा।
  • राष्ट्रीय ध्वज किसी भी व्यक्ति या वस्तु को सलामी में नहीं डुबाया जाएगा।
  • कोई अन्य ध्वज राष्ट्रीय ध्वज से ऊंचा या उसके बगल में नहीं रखा जाएगा; न ही फूल या माला, या प्रतीक सहित कोई वस्तु ध्वज मस्तूल पर या उसके ऊपर रखी जाएगी जिससे राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाता है।
  • राष्ट्रीय ध्वज का उपयोग उत्सव, रोसेट, बंटिंग या किसी अन्य तरीके से सजावट के लिए नहीं किया जाएगा।

Conclusion

हम आशा करते हैं कि “Poem on Har Ghar Tiranga” पर, हम इस पोस्ट के माध्यम से “हर घर तिरंगा” के तहत कुछ देश भक्ति कविताये प्रस्तुत कर रहे है, “चलो मिलकर तिरंगा फहराएं” ​​ जैसे देश भक्ति कविताये आपको दी गई जानकारी पसंद आएगी। यदि हां, तो इसे अपने सहपाठियों के साथ साझा करना न भूलें। इस वेबसाइट का उपयोग करने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद। यदि आपके पास इस इस पोस्ट के संबंध में कोई सुझाव है, तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कीजिए और Please Social Media के माध्यम से इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करके, ताकि इसका लाभ अधिक से अधिक लोगों को पहुंच सके।

5/5 - (2 votes)

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top