10 Lines on National Police Memorial Day

Police Commemoration Day | राष्ट्रीय पुलिस शहीद दिवस

आज हम पेश कर रहे हैं, 10 Lines on National Police Memorial Day, जिसे Police Commemoration Day और राष्ट्रीय पुलिस शहीद दिवस के नाम से भी जाना जाता है। राष्ट्रीय पुलिस शहीद दिवस हर साल भारत में 21 अक्टूबर को मनाया जाता है।

हर राज्य का पुलिस बल अपने बहादुर पुलिस वालों की याद में इस दिवस का आयोजन करता है जिन्होंने जनता एवं शांति की रक्षा के लिए अपना जीवन कुर्बान कर दिया , उन्हें याद मैं यह दिन मनाया जाता है।

Essay Writing

10 Lines on National Police Memorial Day

  1. राष्ट्रीय पुलिस शहीद दिवस हर साल भारत में 21 अक्टूबर को मनाया जाता है।
  2. इस दिन 10 पुलिसकर्मियों के बलिदान को याद किया जाता है जिन्होंने 1959 में चीन से लगने वाली भारतीय सीमा की सुरक्षा में अपने प्राण न्योछावर किए थे।
  3. वर्ष 2012 में पुलिस स्मारक चाणक्यपुरी में राष्ट्रीय स्तर पर पुलिस स्मृति दिवस परेड का आयोजन किया जाता है।
  4. आजादी के बाद से अब तक राष्ट्र की अखंडता और देशवासियों की सुरक्षा में 34418 पुलिसकर्मियों ने अपना बलिदान दिया है।
  5. पुलिस के सम्मान के प्रति किस दिवस को मीडिया ने एकदम महत्वहीन करार दिया वाकई यह दुख की बात है।
  6. हर राज्य का पुलिस बल बहादुर पुलिस वालों की याद में इस दिवस का आयोजन करता है जिन्होंने जनता एवं शांति की रक्षा के लिए अपना जीवन कुर्बान कर दिया ज्यादातर यही होता है कि इन परेडो में लोगों की उपस्थिति कम होती है।
  7. किरण बेदी के अनुसार दिल्ली पुलिस द्वारा आयोजित परेडों कि वह गवाह है उन्होंने इस परेड की कवरेज के लिए एक- दो मीडिया कर्मियों को जरूर देखा है परंतु शाम की खबरों हेतु टेलीविजन कवरेज के लिए वहां कोई भी मीडिया कर्मी उपस्थित नहीं था।
  8. प्रतिवर्ष लगभग 1000 पुलिसकर्मी अपना फर्ज निभाते हुए शहीद होते हैं लेकिन इनमें से किसी को भी अपने कार्यों और फर्ज को अंजाम देते हुए शहीद हो जाने पर मीडिया की ओर से सराहना नहीं मिलती ना ही उनके बलिदानों की कहानी लोगों तक पहुंचती है।
  9. इस अवसर पर शहीदों की याद में स्वैच्छिक रक्तदान वृक्षारोपण एवं स्वच्छ भारत अभियान के तहत भी कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं।
  10. इस दिन शहीद स्थल पर पुष्प चक्र अर्पित कर शहीदों को भावभीनी श्रद्धांजलि दी जाती है।
  11. परेड में भाग ले रहे पुलिस अधिकारियों व बाकी पुलिसकर्मी शोक शस्त्र करके सिर झुका कर दो मिनट का मौन धारण कर शहीदों को श्रद्धांजलि देते हैं।
5/5 - (1 vote)

Leave a Comment